डॉ० निशंक के जन्मदिवस के अवसर पर हर्डस द्वारा किया गया वृक्षारोपण

के०के०पाण्डे

दिनांक 15 जुलाई 2020 को लालपुर नायक, आर०टी०ओ० रोड, कुसुमखेड़ा में मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ० रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ के जन्मदिवस के अवसर पर स्पर्श गंगा अभियान के तहत हिमालयन एजुकेशनल रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट सोसाइटी (हर्डस) द्वारा वृक्षारोपण कर उनके दीर्घायु होने की कामना की गयी। संस्था द्वारा गाॅजर घास, पालीथीन उन्मूलन एवं कूढ़े का निस्तारण भी किया गया। हर्डस द्वारा इस अवसर पर छायादार, फलदार एंव औषधिक महत्व के पोधों का रोपण किया गया एंव उनके संरक्षण की जिम्मेदारी भी ली गई। 

 

वृक्षारोपण कार्यक्रम के पश्चात उक्त स्थल पर ही आयोजित बैठक में हर्ड्स के सचिव प्रो० अतुल जोशी ने मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ० ‘निशंक’ के द्वारा प्रारम्भ ‘स्पर्श गंगा अभियान‘ की प्रशंसा करते हुए कहा कि ‘स्पर्श गंगा अभियान’, डाॅ० ‘निशंक’ का माँ गंगा को समर्पित एक ऐसा दिव्य विचार अथवा तर्क है जो वैश्विक स्तर पर गंगा को जल की प्रतिनिधि मानते हुए उसके संरक्षण की प्रेरणा देता है। उन्होने कहा कि हिमालयन एजुकेशनल, रिसर्च एण्ड डेवलपमैंट सोसाइटी विगत 14 वर्षों से स्वास्थ्य, शिक्षा, जीवन और जीविका, पर्यावरण संरक्षण, रक्तज्ञान एवं रक्तदान, आपदा प्रबन्धन, साॅस्कृतिक विरासत के संरक्षण, महिला सशक्तिकरण सहित समाज में व्याप्त कुरीतियों के विरूद्व उत्तराखण्ड के जनमानस को एकजुट करने का प्रयास कर रही है। 

इस अवसर पर सामाजिक कार्यकर्ता श्री नवीन वर्मा ने कहा कि स्पर्श गंगा अभियान के तहत वृक्षारोपण एवं पालीथीन उन्मूलन कार्यक्रम का संचालन अनवरत रूप से हल्द्वानी के विभिन्न क्षेत्रों में जारी रखा जाएगा तथा पर्यावरण संरक्षण हेतु जागरूकता रैलियों का भी आयोजन होगा। इस अवसर पर यह भी संकल्प लिया गया कि स्पर्श गंगा अभियान के तहत हल्द्वानी शहर तथा ग्रामीण क्षेत्र से गाॅजर घास का उन्मूलन किया जाएगा यह कार्यक्रम हर्डस संस्था द्वारा चरणबद्ध तरीके से समय समय पर किया जाएगा ताकि पूरे हल्द्वानी क्षेत्र से इस विनाशकारी घास का सफाया हो सके। 

वृक्षारोपण कार्यक्रम में हर्डस संस्था के अध्यक्ष श्री के०के०पाण्डे, श्री विनोद जोशी, श्री ललित पंत, श्री मनोज पांडे, श्री राकेश शर्मा, श्री त्रिभुवन भट्ट, श्री राजीव कत्यूरा, श्री मोहित भट्ट, श्री नीरज नेगी आदि ने सहभागिता की। 
 

यह वेबसाइट  शांतिनिकेतन ट्रस्ट फॉर हिमालया द्वारा विकसित की है।

@ 2020 शांतिनिकेतन ट्रस्ट फॉर हिमालया सर्वाधिकार सुरक्षित।

  • Facebook - Black Circle
  • Twitter - Black Circle

Ramgarh (Uttarakhand), India